sep-26
जो अंगरेजी नहीं जानते वे भी हिंदुस्तान के जल,जंगल और जमीन ही नही, जुबान को भी बचाते हैं| जो अंगरेजी नहीं जानते वे भी कमबख्त हिन्दुस्तानी बने रहते हैं और उनके लिए हमें अदालतों में, दफ्तरों, संघ लोकसेवा आयोग, संसद में, बसों और हवाई अड्डों पर कभी बांग्ला, कभी तमिल, कभी तेलगु तो कभी हिंदी में कुछ-कुछ व्यावहार करना पड़ता हैं| अगर हिंदुस्तान के सारे लोग अंग्रेजी जानने लग जाएं तो राष्ट्रीय एकता कितनी मजबूत हो जायगी| एक भाषा,एक लोग, एक देश, एक जैसे अंग्रेजी के चापलूस………………
विस्तृत लेख के लिय लिंक पर क्लिक करे

Comments

comments